8 टिप्स जो आपके शुक्राणुओं को स्वस्थ रखने में मदद करेंगे

8414

हाल ही में की गयी एक शोध से पता चला है कि एक तिहाई भारतीय पुरुषों में अनुर्वरता के लक्षण होते हैंI इसका मुख्य कारण है उनका रहन-सहनI आगे पढ़े कि इस स्थिति से कैसे निपटा जा सकता है….

जंक फ़ूड’ से बचें

प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट्स से भरपूर भोजन आपके वीर्य के लिए अच्छा हैI एक रिसर्च ने दर्शाया है कि जब पुरुष चर्बीदार और अस्वस्थ खाना खाते हैं तो उनके वीर्य के लिएगर्भाशय नली की ओर बढ़ना मुश्किल हो जाता हैI

लाल मांस और संसाधित अनाज वाला भोजन शुक्राणु की गतिशीलता के लिए नुकसानदायक हैI ‘जंक फ़ूड’ को पूरी तरह त्याग कर उसकी जगह ऐसा भोजन करें जो प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर हो जैसे फल, सब्जियां, फलियां, मछली और चोकर मुक्त अनाजI

नियमित व्यायाम

एक पुरुष के शुक्राणु का उसकी तंदरुस्ती से गहरा सम्बन्ध हैI अध्ययन से पता चला है कि जो पुरुष नियमित व्यायामकरते हैं उनके शुक्राणुओं का केंद्रीकरण ज़्यादा होता है और ज़रूरत से ज़्यादा मोटा या ज़रूरत से ज़्यादा पतला होने से भी शुक्राणु की गतिशीलता प्रभावित होती हैI oldveda-logo-272

घंटो टीवी देखना, समय पर भोजन ना करना और किसी भी प्रकार की ‘आउटडोर एक्टिविटी’ से अपने शरीर को वंचित रखने से भी वीर्य की गुणवत्ता पर प्रभाव पड़ता हैI दूसरी और ज़रुरत से ज़्यादा कसरत करना और स्टेरॉयड्स का सेवन करना भी शुक्राणुओं की सेहत के लिए सही नहीं है I

शराब और सिगरेट छोड़ें

ज़रूरत से ज़्यादा शराब का सेवन शरीर में टेस्टोस्टेरोन की मात्रा कम करता है जिससे प्रजनन क्षमता को क्षति पहुँच सकती हैI इसके अलावा यह शरीर में होने वाले विकास और रस प्रक्रिया (metabolism) में भी बाधा पहुंचाता हैI अत्यधिक मदिरापान की वजह से अज़ूस-स्पेर्मियॉ(azoospermia) नाम की एक बीमारी भी हो सकती है जिसमें आपके वीर्य में शुक्राणु ख़त्म हो जाते हैंI

धूम्रपान से जहाँ पुरुषो को लिंग तनाव की समस्या हो सकती है वहीं महिलाओं में यह गर्भ धारण करने में जटिलताएं उत्पन्न कर सकता हैI सिगरेट के सेवन से अन्डो और शुक्राणुओं में अनुवांशिक पदार्थ की मात्रा कम हो सकती है जिसकी वजह से सामान्य से कम वजन के बच्चे का जन्म हो सकता हैI गर्भवती महिला को सिगरेट के धुएं से दूर रहना चाहिए क्यूंकि उससे भी पेट में पल रहे बच्चे को नुकसान पहुँच सकता हैI

नीचे’ ठंड रखें

शुक्राणुओं के सामान्य उत्पादन के लिए आपके अंडकोष का तापमान शरीर के तापमान से 3 से 4 डिग्री नीचे रहना चाहिएI अगर तापमान शरीर के तापमान से ऊपर हो तो परिणाम घातक हो सकते हैंI

तंग अंडरवियर पहनने से वीर्यकोष के आसपास गर्मी उत्पन्न हो सकती है इसलिए गुप्तांगो को ढकने के लिए ढीले-ढाले और साफ़ वस्त्र पहनेI अत्यधिक सॉना, स्टीम और हॉट टब स्नान से दूर रहेI गर्मी पैदा करने वाले यंत्र जैसे लैपटॉप, सेल फ़ोन इत्यादि को भी गुप्तांगो से दूर रखेंI

तनाव से बचें

लगातार तनावग्रस्त रहना भी पुरुषो में निष्फलता को जन्म दे सकता हैI ऐसा कोई प्रमाण नहीं है कि सिर्फ़ तनाव से ही एक पुरुष की प्रजनन क्षमता को हानि पहुँचती है लेकिन इसकी वजह से शुक्राणुओं की मात्रा पर निस्संदेह असर पड़ता हैI तनाव सेक्स के समय आपकी प्रदर्शन क्षमता को भी प्रभावित करता है और बेचैनी बढ़ाता है जिससे आपकी यौनरुचि कम हो सकती हैI

जब ज़रूरत हो डॉक्टर से संपर्क करें

हर साल करीब एक करोड़ अस्सी लाख जोड़े अनुर्वरता के शिकार होते हैंI अगर आप बच्चा पैदा नहीं कर पा रहे हैं या स्खलन करने में कठिनाई महसूस कर रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करेंI किसी भी तरह की मनगढ़ंत कहानियों या मिथ्यों पर विश्वास ना करें क्यूंकि हो सकता है आपको कोई बीमारी हो या आप किसी तरह के संक्रमण से ग्रसित हो जिससे आपके शुक्राणुओं में कमी आ गयी होI

अनुवर्ता कई कारणों से हो सकती है जो सामाजिक, मनोवैज्ञानिक और स्वास्थय सम्बन्धी हो सकते हैं, तो इसलिए एक विशेषज्ञ की राय लेना ज़रूरी है क्यूंकि आपका इलाज इन बातों पर निर्भर करेगा कि आपकी उम्र क्या है और आप कितने समय से अनुर्वरता से प्रभावित हैंI

नियमित नींद

अनियमित और अपर्याप्त नींद से पुरुषो की कामप्रवृत्ति पर खराब असर पड़ता हैI कोपनहेगन में 953 डेनिश पुरूषों के ऊपर किये गए एक अध्ययन से पता चला कि अनियमित ढंग से सोने से आपके शुक्राणुओ के केन्द्रीयकरण पर 20 से 30 प्रतिशत तक असर पड़ सकता हैI

ड्रग्स से दूर रहे

कई कृत्रिम ड्रग्स (वैद्य और गैर-कानूनी) आपके वीर्य के लिए हानिकारक होती हैंI कई बार डॉक्टरों द्वारा नियत दवाइयाँ भी आपको नुक्सान पहुंचा सकती हैंI अनुपूरक टेस्टोस्टेरोन भी वीर्य की उत्पादन क्षमता पर असर डाल सकता है और उपपाचन स्टेरॉयड भी आपके लिए असुरक्षित हैंI

मारिजुआना और इस प्रकार की और उत्तेजक औषधियां(जैसे कोकेन,MDMA या मेथामफेटामिने) आपके शरीर में शुक्राणुओं की कमी पैदा कर सकती हैंI इसके अलावा आपको अल्फा ब्लॉकर्स और 5अल्फा-रेडक्टेस इन्हिबिटर्स से भी खतरा हैI

पुरुषों में अनुर्वरता को बढ़ावा देने वाली और औषदीयों के बारे में जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करेंI


SHARE