Connect with us

Herbs & Spices

दूब घास (दुर्वा) के औषधीय गुण

Published

on

दूब या ‘दुर्वा’ (वैज्ञानिक नाम- ‘साइनोडान डेक्टीलान”) वर्ष भर पाई जाने वाली घास है, जो ज़मीन पर पसरते हुए या फैलते हुए बढती है। हिन्दू धर्म में इस घास को बहुत ही महत्त्वपूर्ण स्थान प्राप्त है। हिन्दू संस्कारों एवं कर्मकाण्डों में इसका उपयोग बहुत किया जाता है। इसके नए पौधे बीजों तथा भूमीगत तनों से पैदा होते हैं। वर्षा काल में दूब घास अधिक वृद्धि करती है तथा वर्ष में दो बार सितम्बर-अक्टूबर और फ़रवरी-मार्च में इसमें फूल आते है। दूब सम्पूर्ण भारत में पाई जाती है। यह घास औषधि के रूप में विशेष तौर पर प्रयोग की जाती है।

महाकवि तुलसीदास ने दूब को अपनी लेखनी से इस प्रकार सम्मान दिया है-
“रामं दुर्वादल श्यामं, पद्माक्षं पीतवाससा।”

diet-for-ulcerative-colitis-and-crohns-disease-planet-ayurveda-51-638प्रायः जो वस्तु स्वास्थ्य के लिए हितकर सिद्ध होती थी, उसे हमारे पूर्वजों ने धर्म के साथ जोड़कर उसका महत्व और भी बढ़ा दिया। दूब भी ऐसी ही वस्तु है। यह सारे देश में बहुतायत के साथ हर मौसम में उपलब्ध रहती है। दूब का पौधा एक बार जहाँ जम जाता है, वहाँ से इसे नष्ट करना बड़ा मुश्किल होता है। इसकी जड़ें बहुत ही गहरी पनपती हैं। दूब की जड़ों में हवा तथा भूमि से नमी खींचने की क्षमता बहुत अधिक होती है, यही कारण है कि चाहे जितनी सर्दी पड़ती रहे या जेठ की तपती दुपहरी हो, इन सबका दूब पर असर नहीं होता और यह अक्षुण्ण बनी रहती है।
दूब को संस्कृत में ‘दूर्वा’, ‘अमृता’, ‘अनंता’, ‘गौरी’, ‘महौषधि’, ‘शतपर्वा’, ‘भार्गवी’ इत्यादि नामों से जानते हैं। दूब घास पर उषा काल में जमी हुई ओस की बूँदें मोतियों-सी चमकती प्रतीत होती हैं। ब्रह्म मुहूर्त में हरी-हरी ओस से परिपूर्ण दूब पर भ्रमण करने का अपना निराला ही आनंद होता है। पशुओं के लिए ही नहीं अपितु मनुष्यों के लिए भी पूर्ण पौष्टिक आहार है दूब। महाराणा प्रताप ने वनों में भटकते हुए जिस घास की रोटियाँ खाई थीं, वह भी दूब से ही निर्मित थी|अर्वाचीन विश्लेषकों ने भी परीक्षणों के उपरांत यह सिद्ध किया है कि दूब में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट पर्याप्त मात्रा में मिलते हैं। दूब के पौधे की जड़ें, तना, पत्तियाँ इन सभी का चिकित्सा क्षेत्र में भी अपना विशिष्ट महत्व है। आयुर्वेद में दूब में उपस्थित अनेक औषधीय गुणों के कारण दूब को ‘महौषधि’ में कहा गया है। आयुर्वेदाचार्यों के अनुसार दूब का स्वाद कसैला-मीठा होता है। विभिन्न पैत्तिक एवं कफज विकारों के शमन में दूब का निरापद प्रयोग किया जाता है। दूब के कुछ

औषधीय गुण निम्नलिखित हैं-

oldveda-old-veda-logo-banner-health-lifestyle-ayurveda1
1- संथाल जाति के लोग दूब को पीसकर फटी हुई बिवाइयों पर इसका लेप करके लाभ प्राप्त करते हैं।
2 -इस पर सुबह के समय नंगे पैर चलने से नेत्र ज्योति बढती है और अनेक विकार शांत हो जाते है।
3- दूब घास शीतल और पित्त को शांत करने वाली है।
4- दूब घास के रस को हरा रक्त कहा जाता है, इसे पीने से एनीमिया ठीक हो जाता है।
5- नकसीर में इसका रस नाक में डालने से लाभ होता है।
6- इस घास के काढ़े से कुल्ला करने से मुँह के छाले मिट जाते है।
7- दूब का रस पीने से पित्त जन्य वमन ठीक हो जाता है।
8- इस घास से प्राप्त रस दस्त में लाभकारी है।
9- यह रक्त स्त्राव, गर्भपात को रोकती है और गर्भाशय और गर्भ को शक्ति प्रदान करती है।
10- दूब को पीस कर दही में मिलाकर लेने से बवासीर में लाभ होता है।
11- इसके रस को तेल में पका कर लगाने से दाद, खुजली मिट जाती है।
12- दूब के रस में अतीस के चूर्ण को मिलाकर दिन में दो-तीन बार चटाने से मलेरिया में लाभ होता है।
13- इसके रस में बारीक पिसा नाग केशर और छोटी इलायची मिलाकर सूर्योदय के पहले छोटे बच्चों को नस्य दिलाने से वे तंदुरुस्त होते है।


Continue Reading

Home Remedies

हरी मिर्च और अदरक के होते है ये अद्भुद फायदे

Published

on

By

ये तो हम सब जानते ही है कि मसाले खाने के स्वाद को बढ़ाते है। हम घर में रोज कई मसालों का प्रयोग करते है। मसाले सिर्फ खाने का स्वाद ही नहीं बढ़ाते बल्कि हमें कई बीमारियों से भी दूर रखते है। एेसे कई मसाले है जो कैंसर और ट्यूमर से हमारे शरीर को बचा सकते है। तो आइए जानें इन मसालों के बारे में…

1. ज्यादातर लोग खाने में हरी मिर्च का प्रयोग करते है। कई पुराने शोध कहते है कि हरी मिर्च में कैपसेसिन होता है जोकि कई बीमारियों के लिए फायदेमंद है।

2. अगर हरी मिर्च के साथ अदरक का प्रयोग किया जाएं तो इसके फायदें दोगुने हो जाते है।

3. कई शोधों में लंग कैंसर से बचाव के तौर पर भी हरी मिर्च के प्रयोग को फायदेमंद माना जाता है।

4. खांसी और जुकाम के लिए तो हम अदरक का इस्तेमाल करते ही है लेकिन इसका इस्तेमाल कैंसर से लड़ने में भी सहायक है।

5. कहते है कि अदरक में मौजूद 6 जिंजरगोल कैपसेसिन से मिलकर एक एेसा कंपाउड बनता है जिससे ट्यूमर पैदा करने वाले रिसेप्टर्स जड़ से खत्म हो जाते है।


Continue Reading

Tree

हरा धनिया के ये चमत्कारिक फायदे जो सेहत के लिए वरदान साबित हो सकते है!

Published

on

By

हर घर में हरा धनिया खाने में इस्तेमाल होता है.

लेकिन यह हरा धनिया खाने में क्यों उपयोग करते हैं यह बहुत कम लोग जानते होंगे. हरा धनिया  सिर्फ खाने का स्वाद  ही नहीं बढाता बल्कि सेहत के लिए लाभदायक भी होता है.

health-benefits-of-coriander-leaves

आइये जानते हैं इसके  चमत्कारिक फायदे

  • धनिया  में  विटामिन ‘ए’ सी, खनिज पदार्थ, पोटोशियम, फास्फोरस, कैल्शियम, कैरोटीन आयरन, थियामीन, फाइबर, और कार्बोहाइड्रेट जैसे पोषक तत्व प्रचुर मात्र में पाये जाते है, जो हर तरह के रोगों से शरीर को बचाते है.
  • इसका एंटी-सेप्ट‍िक गुण  जीभ और  मुंह के  अंदर घाव होने से बचाता है. साथ ही मुहं में घाव  हो गए हो तो उसको सही  करने में मदद भी करता है.
  • शरीर की आंतरिक और बाहरी जलन जैसे – हाथ, पैर, आंखों, यूरिन की जलन, सिरदर्द और पेट की  एसिडिटी को दूर करते है.
  • हरा धनिया हानिकारक  कोलेस्ट्रॉल कम करता है और  फायदेमंद  कोलेस्ट्रॉल बढ़ाने में सहायक होता है.
  • नकसीर में भी लाभदायक है. नकसीर रोगी इसके रस को जब नाक में डालते है तो नकसीर से मुक्ति  मिलती है.
  • हरा धनिया कफ नाशक है जो कफ को जड़ से ख़त्म करता है. निमोनिया के रोगी के लिए भी फायदेमंद होता है.
  • हरा धनिया लीवर की सक्रियता तीव्र करती करता  है. साथ ही पाचन तंत्र हेतु  बहुत उत्तम रहता  है.
  • इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी तत्व होते है, जो आर्थरायटिस रोगी की सेहत के  लिए भी लाभप्रद है.
  • डायबिटीज रोगी के लिए  फायदेमंद है. यह ब्लड इंसुलिन की मात्रा संतुलित रखता है.
  • किडनी संबंधी रोगों की समस्या को कम करती करता है और किडनी के रोगों से बचाता है.
  • इसमें उपस्थित विटामिन्स ए,सी,  एंटी ऑक्‍सीडेंट व मिनरल, कैंसर के रोग से शरीर की रक्षा करते है.
  • हरा धनिया में उपस्थित फाइटोन्यूट्रिएंट्स रेडिकल डैमेज होने से बचाता है व रेडिकल को सुरक्षित रखता है. इसमें पाए जाने वाले  विटामिन  अल्जाइमर रोगियों के लिए  फायदेमंद है.
  •  नर्वस सिस्टम सक्रिय बनाता है.
  • हरा धनिया की पत्तियों में एंटीसेप्टिक व  एंटीऑक्सीडेंट तत्व त्वचा संबंधी रोग कील, मुहासे, काले धब्बे, झुरियों की परेशानी को जड़ से  ख़त्म करता है.
  • इसकी पत्तियाँ खाने पर पेट की पथरी पिघलकर मूत्र के द्वारा शरीर से बहार निकल जाती है.
  • इसकी पत्तियों में  आयरन पाया जाता है जो एनिमिया से बचाता है.
  • यह धनिया  मासिक धर्म के समय रक्तस्राव की अधिकता व कमर के दर्द से मुक्त करता है.

हरा धनिया की पत्तियाँ शरीर को अनेक रोगों से बचाती है और हर तरीके से रोग मुक्त बनाती है. यह हरा धनिया स्वाथ्य के लिए चमत्कारिक औषधि की तरह है.


Continue Reading

Tree

नारियल वाटर पीने के ये फायदे जानकार आप भी हररोज़ नारियल पानी पीने लगेंगे

Published

on

By

नारियल पानी कम कैलोरी वाला एक ऐसा मीठा प्राकृतिक पेय पदार्थ है जिसे पीने से न सिर्फ ताज़गी का एहसास होता है बल्कि ये सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है.

नारियल पानी में एंटीऑक्सीडेंट्स, अमीनो-एसिड, एंजाइम्स, बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन, विटामिन सी और कई प्रमुख लवण पाए जाते हैं, जिनमें छुपा है स्वास्थ्य का खज़ाना.

कहा जाता है कि नारियल पानी की तासीर ठंडी होती है जो महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए किसी अमृत से कम नहीं है.

यूरिन में जलन की हो परेशानी या त्वचा पर निखार लाना हो या फिर मोटापे पर काबू पाने की बात ही क्यों न हो. नारियल पानी इन तमाम स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का रामबाण ईलाज है.

आइए हम आपको बताते हैं नारियल पानी के फायदे – रोज़ाना नारियल पानी पीना आपकी सेहत के लिए कितना फायदेमंद हो सकता है.

coconut

नारियल पानी के फायदे –

1 – शरीर में नहीं होती है पानी की कमी

रोजाना नारियल पानी पीने से शरीर में कभी पानी की कमी नहीं होती है. इसके साथ ही जरूरी लवणों की मात्रा संतुलित बनी रहती है.

शरीर में पानी की कमी हो जाने पर या फिर शरीर की तरलता कम हो जाने पर, डायरिया हो जाने पर, उल्टी होने पर या दस्त होने पर नारियल पानी पीना फायदेमंद रहता है.

2 – ब्लड प्रेशर करता है नियंत्रित

हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए भी नारियल के पानी का इस्तेमाल किया जाता है. इसमें मौजूद विटामिन सी, पोटैशियम और मैग्नीशियम ब्लड-प्रेशर को नियंत्रित रखने में सहायक होते हैं. साथ हाइपरटेंशन को भी नियंत्रित करने मदद करता है नारियल पानी.

3 – नारियल पानी रखता है दिल का ख्याल

नारियल पानी कोलेस्ट्रॉल और फैट-फ्री होता है जिसकी वजह ये दिल के लिए काफी अच्छा माना जाता है.  इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट ब्लड सर्कुलेशन पर सकारात्मक प्रभाव डालता है.

4 – हैंगओवर से दिलाता है छुटकारा

ज्यादा शराब पी लेने से होनेवाले हैंगओवर में नारियल पानी औषधि का काम करता है. इसलिए हैंगओवर से छुटकारा पाने के लिए भी नारियल का पानी एक अच्छा उपाय है.

5 – वजन को करता है नियंत्रित

अगर आप वजन घटाने के लिए तरह-तरह के उपाय करके थक गए हैं तो फिर रोज़ाना नारियल पानी पीकर देखिए. कुछ ही दिन में आपको इसका सकारात्मक प्रभाव दिखने लगेगा.

6 – डिहाइड्रेशन से करता है बचाव

अगर आप अक्सर सिरदर्द की शिकायत से परेशान रहते हैं तो इसकी वजह डिहाइड्रेशन भी हो सकती है. ऐसे में नारियल पानी शरीर को तुरंत इलेक्ट्रोलाइट्स पहुंचाने का काम करता है. नारियल पानी आपके बॉडी को डिहाइड्रेशन से बचाने में मदद करता है.

7 – फ्लू से लड़ने में मददगार

वायरल इंफेक्शन से होनेवाले फ्लू और दाद जैसी बीमारियों से लड़ने में नारियल पानी कारगर भूमिका निभाता है.

अगर कोई व्यक्ति इन बीमारियों की चपेट में आ गया है, तो नारियल पानी में मौजूद एंटी-वायरल और एंटी-बैक्टीरियल गुण इस बीमारी से लडने में मदद करेंगे.

8 – डायबिटीज और कैंसर में लाभदायक

डायबिटीज के मरीज़ों के लिए नारियल पानी काफी लाभदायक होता है. इसमें मौजूद पोषक तत्व, शरीर में शुगर लेवल को नियंत्रित रखते हैं. नारियल पानी कैंसर से भी लड़ने में मदद करता है.

9 – एंटीएजिंग हटाकर त्वचा में निखार लाए

चेहरे से झुर्रियों और मुहांसों के दाग मिटाने में भी नारियल पानी काफी मददगार होता है. नारियल पानी में मौजूद साइटोकिन्स, एंटी ऐजिंग, एंटी कासीनजन और एंटी थौंबौटिक्स से लडने में काफी फायदेमंद साबित हुए हैं.

त्वचा के दाग, धब्बों और झुर्रियों को मिटाने के लिए हर रात करीब दो तीन हफ्तो तक चेहरे पर नारियल पानी लगाने से त्वचा साफ होती है और उसमें निखार आता है.

10 – पाचन शक्ति को बनाता है मज़बूत

नारियल पानी में फॉस्फेट, कटालेस, डिहाइड्रोजनेज, डायस्टेज, पेरोक्सजेस, आरएनए पोलिमेरासेस जैसे तत्व पाए जाते हैं जो शरीर की पाचन शक्ति को सुधारकर उसे मज़बूत बनाने में सहायक होते हैं. नारियल पानी शरीर में ज़रूरी विटामिन्स की कमी को भी दूर करता है.

ये है नारियल पानी के फायदे – नारियल पानी के फायदे जिनके बारे में जानकर आप समझ ही गए होंगे कि नारियल पानी पीना स्वास्थ्य के लिए कितना फाययेदमंद है.

इसमें ऐसे औषधिय गुण छुपे हैं जो डॉक्टर की दवाईयों में भी नहीं मिलेंगे.

नारियल वाटर पीने के ये फायदे जानकार आप भी हररोज़ नारियल पानी पीने लगेंगे 


Continue Reading

Trending