अस्थमा नियंत्रित करने के लिए खाएं गुड़

2131

अगर आपको या आपके किसी प्रियजन को अस्थमा यानी दमा है, को आपके किचन में गुड़ ज़रूर मौजूद होना चाहिए। गुड़ में कुछ ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो श्वास प्रक्रिया को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। और हां, गुड़ से कैलोरी बढ़ने की फिक्र न करें, ये आपको नुकसान नहीं पहुंचाएगा। गुड़ में चीनी से बहुत ज्यादा मिनरल्स और विटामिन होते हैं, जो आपकी पूरी सेहत के लिए अच्छे माने जाते हैं। आइये जानते हैं कि गुड़ अस्थमा रोगियों के लिए फायदेमंद क्यों है:

आयरन की उच्च मात्रा

गुड़ में मौजूद आयरन एनीमिया से लड़ता है और ब्लड काउंट बढ़ाता है। ऐसे में, ब्लड सर्कुलेशन बेहतर हो जाता है और साथ ही, श्वास क्रिया भी।

एंटी-एलर्जिक तत्व

गुड़ में एंटी एलर्जिक तत्व मौजूद होते हैं। गुड़ खाने से फेफड़े एलर्जी से दूर रहते हैं जिससे कि खांसी और छींक नहीं आती। अस्थमा के इन लक्षणों से लड़ने में गुड़ इस तरह से भी मदद करता है।

मिनरल्स से भरपूर

गुड़ में पोटैशियम, सोडियम, कैल्शियम फास्फोरस और ज़िंक मौजूद होता है। ये सभी मिनरल्स आपको हेल्दी रखने के लिए जरूरी हैं। इसके अलावा, इसमे मौजूद मैग्नीशियम ब्रोंकिअल मसल्स को रिलैक्स करता है। ये मसल्स श्वास को नियमिक करती है, जिससे कि अस्थमा मरीज़ को राहत मिलती है।

 खाने का तरीका

  • खाना खाने के बाद मीठा खाने का मन होता है, तभी आप गुड़ का छोटा टुकड़ा खा लें, आपकी श्वास मांसपेशियां रिलैक्स हो जाएंगी।
  • अस्थमा मरीज़ के खाने में गुड़ मिलाकर भी उसे दिया जा सकता है।

SHARE