Connect with us

Featured

अनिद्रा को भगाने के घरेलू इलाज

Published

on

अगर सोना आपके लिए जरुरी काम बन जाए तो समझिए कुछ गड़बड़ी है। अनिदा आम कामकाजी भारतीयों की शिकायत बनती जा रही है। इंसोमेनिया कोई बीमारी नहीं बल्कि खराब जीवनशैली से उत्पन्न हुई नींद संबंधी समस्या है। इंसोमेंनिया अगर लंबे समय तक रहे तो यह गंभीर बीमारी का रुप ले सकती है।

डॉक्टर कहते हैं कि बेहतर स्वास्थ्य और जिंदगी के लिए एक आम इंसान को 7 से 8 घंटे अवश्य सोना चाहिए। लेकिन नौकर-धंधे का प्रेशर, व्यस्त दिनचर्या और आगे भागने की होड़ में हम नींद को ही भूल जाते हैं। बाद में जब नींद काफी सताने लगती है तो हम स्लीपिंग पिल्स (Sleeping Pills) लेने लगते हैं। लेकिन स्लीपिंग पिल्स लेने से बेहतर है कि हम कुछ ऐसे आसान घरेलू इलाज करें जिससे शरीर की थकावट दूर हो और हमें बेहतर नींद मिल सके।

अनिद्रा को भगाने के घरेलू इलाज (Home Remedies for Insomenia)oldveda-old-veda-logo-banner-health-lifestyle-ayurveda

हरी साग और सब्जी ज्यादा मात्रा में खाएं (Eat green vegetables more)

हरी साग और सब्जी शरीर के लिए ही नहीं नींद के लिए भी जरुरी है। खासकर जिन सागों के पत्ते बड़े हों और उसमें लिसलिसापन हो तो यह नींद आने में काफी मदद करता है। पोरो और पालक के साग नियमित रुप से खाएं, इससे बेहतर नींद आएगी।

मैग्नीशियम और कैल्शियम (Magnesium and calcium)

मैग्नीशियम और कैल्शियम दोनों को ही नींद बढ़ाने वाली केमिकल कही जाती है। जब यह दोनों साथ में ली जाए तो और असरदार होती है। मैग्नीशियम खाने से दिल की बीमारी का खतरा भी कम हो जाता है। रात में 200 Mg मैग्नीशियम(ज्यादा मात्रा न लें, डायरिया हो सकता है) और 600 mg  कैल्शियम निश्चित रुप से खाएं, बेहतर नींद आएगी।

जंगली सलाद पत्ता या काहू (Wild Lettuce)

अगर आपको टेशन, सिरदर्द, मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द की शिकायत रहती होगी तो आप जंगली सलाद पत्ता को जरुर जानते होंगें। यह शरीर की थकावट, डिप्रेशन और अनिदा में भी काफी असरदार होती है। सोने से पहले इसे पैरों में 30 से 120 मिली ग्राम लगा लें, थकावट गायब हो जाएगी और चैन की नींद आ जाएगी।

हॉप्स (Hops)

यह एक प्रकार का जंगली पौधा है जिसके फल का उपयोग शराब (बीयर) बनाने के काम में आता है। अनिदा, टेंशन और डिप्रेथन के मरीजों को इसके फल का रस पिलाई जाती है ताकि उन्हें आराम की नींद आ सके।

एरोमाथेरेपी (Aromatherapy)

सुगंध का मस्तिष्क से गहरा संबध है। बहुत सारे लोग अपने बेड पर तकिए के नीचे चमेली के फूल रख कर सोते हैं। कई लोग अपने बालकनी में रजनीगंधा या इसी तरह के सुगंधित फूलों के पौधे लगा कर रखते हैं ताकि इसके सुगंध से रात में बेहतर नींद आ सके। लेवेंडर के फूल भी काफी असरदार होते हैं अनिदा के मरीजों के लिए। तकिए के नीचे इसके फूल रख देने से सुगंध पूरे कमरे में फैल जाती है और नींद बेहतर आती है।

योग और ध्यान (Yoga or meditation)

योग और ध्यान को नियमित अभ्यास में लाएं। योग में ज्यादा कठिन आसन नहीं करने हैं, साधारण आसन जिससे मन को शांति मिले वही करें। बेड पर जाने, पहले 5 से 10 मिनट ध्यान करें। ध्यान के दौरान कहीं भटके नहीं और मन को सिर्फ अपनी सांस पर एकाग्र करें। रात में बेहतर नींद आएगी।

एल- थियानीन (L-theanine)

ग्रीन टी में एल –थियानिन नामक एमीनो एसिड पाई जाती है। इसे दिन में पीने से चुस्ती और ताजगी छाई रहती है मन में और रात में पीने से गहरी नींद आती है।


Continue Reading

Featured

ब्रैकफास्ट हो Best तो Weight रहेगा Set, जाने ब्रेकफास्ट में क्या खाएं और क्या नहीं.!

Published

on

By

आज हर 5 में से 3 इंसान मोटापे का शिकार हैं। मोटापा एक ऐसी बीमारी हैं जो एक बार काबू से बाहर चले जाए तो उसे कंट्रोल में करना मुश्किल हो जाता है। यहीं मोटापा आगे चलकर बहुत सारी बीमारियों को न्यौता देता है। हालांकि लोग अब सेहत के प्रति सजग होने लगे हैं और हैल्दी खान-पान की तरफ ध्यान देने लगे हैं लेकिन डाइट लेने और एक्सरसाइज करने के बावजूद भी कई बार वजन कम नहीं होता। इसके पीछे की एक बड़ी वजह हमारे खाने पीने का अनुचित समय और आहार। अगर आप उचित आहार को उचित समय पर खा रहे हैं तो यकीनन आपका वजन कम होगा। फर्स्ट मील यानी सुबह के नाश्ते में उचित आहारों को शामिल करें।

अच्छी सेहत और वजन कम करने का सबसे अच्छा तरीका है आपका ब्रेकफास्ट बेस्ट हो। इसके बाद ही आप बाकी के दिन की डाइट प्लान कर सकते हैं। नाश्ता आपके ब्लड शुगर को स्थिर रखता है जिससे आपको सारा दिन भूख कम लगती है और मैटाबॉलिज्म भी बढ़ा रहता है। चलिए आज आपको बताते हैं कि आपका ब्रेकफास्ट कैसा होना चाहिए।

breakfast-juice-fruit-cereal-bowl

कैलोरी की बजाए षौष्टिक आहार लें

कैलोरी की बजाए पौष्टिक तत्वों से भरपूर आहारों का सेवन करें। मीठे आहारों का सेवन कम करें।

ब्रेकफास्ट में क्या खाएं

– प्रोटीनयुक्त आहार लें। ब्रेकफास्ट में अंडे को शामिल करें।

– ड्राई फ्रूट्स (नट्स) और एवोकाडो खाएं।

– फ्रूट जूस लेने की बजाए खूब पानी पीएं और कॉफी या टी लें।

– सब्जियों के जूस को ब्रेकफास्ट में शामिल करें।

ब्रेकफास्ट में इन आहारों से परहेज करें

– मीठे आहारों का सेवन बिलकुल ना करें।

– डिब्बाबंद आहारों का सेवन ना करें।

– चीनी वाला दही ना खाएं।

– फ्रोजेन मील्स से परहेज करें।

– चीनीयुक्त प्रोटीन पाऊडर ना लें।

– मैदे की ब्रैड की बजाए ब्राऊन ब्रैड खाएं।

– मीट खाना बंद करें।


Continue Reading

Body Care

पथरी के दर्द से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय!

Published

on

By

पथरी यानि स्टोन की समस्या आजकल आम देखने को मिल रही है। इसका दर्द इतना भयानक होता है कि सहा न जा सकें। पथरी यूरिन सिस्टम की बीमारी है जो शरीर में कैल्शियम के गाढ़े होने से बढ़ने लगती है। हर उम्र के लोग इस समस्या का सामना कर रहे है। अगर आप भी इस समस्या से परेशान है तो हम आपको कुछ घरेलू नुस्खे बताने जा रहे है, जिसे अपनाकर आप पथरी के दर्द से निजात पा सकते है।

Blausen_0595_KidneyStones

Read More: किडनी की बीमारी के 10 संकेत, इन्हें न करें इग्नोर

1. केला

पथरी के दर्द से राहत पाने के लिए केले का सेवन रोज करें। केले में पाए जाने वाले विटामिन्स पथरी को बढ़ने से रोकते है।

 2. अजवाइन

पानी में अजवाइन डालकर उबाल लें और फिर इसे छानकर पीएं। इसे पीने से पथरी के दर्द से छुटकारा मिलेगा।

3. नींबू पानी

नींबू में सीट्रिक एसिड की मात्रा पाई जाती है जोकि शरीर में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ने से रोकता है। पथरी के समय इसका सेवन करने से जल्दी राहत मिलती है।

4. मिश्री, सौंफ और सूखा धनिया

रात को 2 गिलास पानी में 2 बड़े चम्मच सौंफ, सूखा धनिया और मिश्री को डालकर भिगों दें। सुबह इसे छानकर खाली पेट पीए। एेसा करने से आपको जल्दी ही पथरी से राहत मिलेगी।

5. प्याज

प्याज के रस को शक्कर के साथ पीएं। प्याज में पाए जाने वाले पोटैशियम और विटामिन-B शरीर में पथरी को बढ़ने से रोकता है।

6. एलोवेरा

एलोवेरा का जूस नियमित रूप से पीने से पथरी के दर्द से राहत मिलती है।

यह भी पढ़ें: आपको किडनी की बीमारियों से दूर करेगा ये योग..


Continue Reading

Featured

बड़ी से बड़ी बीमारी का रामबाण इलाज है यह तेल, इस तेल में छुपे हैं अनेक फायदे !

Published

on

By

यह पढ़ें : कलौंजी : बड़ी से बड़ी बीमारी का एक इलाज

हमें स्वास्थ्य संबंधी कोई भी समस्या होती है तो हम उसे ठीक करने के लिए डॉक्टर और दवाइयों का सहारा लेते हैं.

लेकिन फिर भी पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाते हैं.

अगर हम कहें कि अपनी किसी भी बीमारी का कारगर इलाज आप घर बैठे कर सकते हैं तो आपको शायद हमारी बातों पर यकीन नहीं होगा.

लेकिन ये सच है हम आपको बताने जा रहे हैं एक ऐसे तेल के बारे में जिसमें गंभीर से गंभीर बीमारियों से लड़ने की क्षमता छुपी है.

kalonji-oil

यह भी पढ़ें: कलौंजी : बड़ी से बड़ी बीमारी का एक इलाज

कलौंजी का तेल

कलौंजी का इतिहास सालों पुराना है. सदियों से इसका उपयोग मसाले और दवाइयों के रुप किया जा रहा है. इसके औषधिय गुणों के चलते ही कहा जाता है कि कलौंजी के तेल में हर मर्ज़ का इलाज है सिवाय मौत के.

कलौंजी का तेल पोषक तत्वों से भरपूर

कलौंजी में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और वसा जैसे 100 से भी ज्यादा महत्वपूर्ण पोषक तत्व पाए जाते हैं. जो हमारे शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को मज़बूत करते है.

आगे स्लाइड में next पर क्लिक करके जाने रामबाण औषधि कलौंजी के औषधीय गुणों के बारे में…


Continue Reading

Trending