Connect with us

Body Care

अगर आप को भी ‘सू-सू’ रोकने की आदत है, तो आपका शरीर बन रहा है खतरनाक बीमारियों के लिए घर

Published

on

अगर आप को भी ‘सू-सू’ रोकने की आदत है,

तो आपका शरीर बन रहा है खतरनाक बीमारियों के लिए घर

दोस्तों अगर कोई आपके सामने यह बोले कि मुझे Urine करना पसंद नहीं, तो आपका क्या रिएक्शन होगा? जहां तक मेरा मानना है कि बार-बार Urine करना स्वस्थ इंसान की निशानी है. यह एक शारीरिक क्रिया है. बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो दिन में केवल 2 या 3 बार ही टॉयलेट जाते हैं. अगर आप भी उन लोगों में से एक हैं तो आपकी जानकारी के लिए आज हम कुछ बाते बताने जा रहे हैं, जिन्हें जान कर आपको समझ आएगा कि आप अपने शरीर और स्वास्थ्य के साथ कितना गलत कर रहे हैं.

879511441

Urine को रोकना कितना नुकसानदेह होता है?

Urine शरीर की एक सामान्य प्रक्रिया है, जिसे महसूस होने पर एक से दो मिनट के अंदर निकाल देना चाहिए. कुछ लोग Urine को कुछ मिनट के लिए तो कुछ कई घंटों के लिए रोक कर रखते है. लेकिन Urine को रोककर रखने वाले लोग शायद इस बात से अंजान होते हैं कि इस तरह से Urine इन्फेक्शन का खतरा बढ़ता है और साथ ही वो इसे महसूस करने की क्षमता को भी खो देते हैं.

851183644

Image Source: wordpress

– जितना लंबे समय तक आप Urine को रोककर रखेगें, आपका ब्‍लैडर बैक्‍टीरिया को अधिक विकसित कर कई प्रकार के स्वास्थ्य जोखिम का कारण बन सकता है. इसके अलावा किडनी फेल होने की संभावना भी बढ़ जाती है.

-बहुत अधिक देर Urine को रोकने से Urine का रंग भी बदलने लगता है. हालांकि ऐसा होने के पीछे सबसे अधिक संभावना संक्रमण की होती है.

– पसीने की तरह Urine के माध्यम से भी शरीर के गैर जरूरी तत्व बाहर निकलते हैं. यदि वह थोड़े समय भी अधिक शरीर में रहते हैं, तो संक्रमण की शुरुआत हो सकती है.

कामकाजी लोगों पर कैसे असर डालता है Urine रोकना

कामकाजी लोग जो 8 से 10 घंटे बैठ कर काम करते हैं उनको Urine की जरूरत ही तब महसूस होती हैं, जब उनका काम खत्म होता है या वो लंच के लिए ब्रेक लेते हैं, जो बहुत गलत है. इस दौरान किडनी से यूरिनरी ब्लैडर में Urine इकठ्ठा होने लगता है. ब्लैडर खाली करने में देरी से Urine किडनी में वापस जाने लगता है. ऐसी स्थिति बार-बार होने से पथरी बनने की शुरूआत हो जाती है, क्योंकि Urine में यूरिया और अमिनो एसिड जैसे टॉक्सिक तत्व होते हैं.

20791171

Urine रोकने से क्या-क्या समस्याएं हो सकती हैं?

– किडनी में स्टोन

– Urinary Tract Infection (UTI)

– Urine का रंग बदलना

– ब्लैडर की मांसपेशियों का कमजोर होना

एक दिन में कितनी बार जाना चाहिए टॉयलेट?

वैसे तो जब भी आपको महसूस हो कि आपको टॉयलेट जाना है तब ही जाना चाहिए. टॉयलेट जाने की फील आपके पानी पीने की मात्रा पर निर्भर करती है. अगर आप ज्यादा पानी पियेंगे, तो हर घंटे या दो घंटे में आपको टॉयलेट जाना पड़ेगा.

तो दोस्तों अब आपको तो ये पता ही चल गया होगा कि Urine कम और ज्यादा आना दोनों ही स्थिति में पानी की मुख्य भूमिका है. अब हम आपको बता रहे हैं कि एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए ताकि आपका Urinary System सही तरह से काम करता रहे और आप स्वस्थ्य रहें.

511812478

Image Source: kathyskinner

– एक दिन में कम से कम 8 से 10 गिलास पानी ज़रूर पीन चाहिए.

– पानी नहीं पी पा रहे हैं तो आप ऐसे फलों का अधिक से अधिक सेवन करें जिनमें पानी की मात्रा ज्यादा हो और जो आपको पूरी तरह से हाइड्रेट रखें. जैसे तरबूज, संतरा, खीरा, ककड़ी आदि.

340912364

Image Source: playnlive

– इसके अलावा आप पानी की जगह लाइम वाटर, छाछ, शिकंजी, जूस आदि भी पी सकते हैं.

ध्यान देने वाली एक बात और है कि अगर आप योगा, व्यायाम या जिमिंग करते हैं तो उस दौरान भी आपको ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए. ऐसा इसलिए क्योंकि व्यायाम करते वक़्त और करने के बाद पसीना बहुत आता है, जिससे शारीर में पानी की कमी हो जाती है.

Feature Image Source: i.ytimg Source: cosmopolitan


Continue Reading

Body Care

इन अासान तरीकोें से करें बवासीर को दूर

Published

on

By

बवासीर की बीमारी एक एेसा असहनीय दर्द है जो दो तरह का होता है अंदरूनी अौर बाहरी। अंदरूनी में नसों की सूजन नहीं दिखती लेकिन महसूस होती है अौर दूसरा बाहरी बवासीर में सूजन बाहर दिखती है। इस बीमारी का पता बड़ी ही अासानी से लग जाता है जैसे मलाशय में दर्द या जलन होना फिर इसके बाद रक्तस्राव, खुजली होना। इस बीमारी से छुटकारा पाने के लिए हम पता नहीं कितनी दवाईयों का सेवन करते लेकिन इनका ज्यादा कोई असर नहीं होता। अाप कुछ घरेलू तरीके अपनाकर भी इस इस समस्या से छुटकारा पा सकते है। आइए जानते है ये तरीके…
oldveda-old-veda-logo-banner-health-lifestyle-ayurveda1
 
1. फाइबर युक्त आहार
अगर अाप अपने पाचन को सही रखना चाहते है तो फाइबर युक्त अाहार का सेवन करें। खाने में साबुत अनाज, ताजे फल और हरी सब्जियों को अधिक शामिल करें।
2. छाछ
छाछ काफी हद तक बवासीर में फायदेमंद होता है। 2 लीटर छाछ में 50 ग्राम पिसा हुआ जीरा और स्‍वादानुसार नमक मिला लें और प्यास लगने पर इसी का सेवन करें।
3. दही 
रोजाना दही का सेवन करने से बवासीर होने की संभावना कम होती है अौर शरीर को फायदा मिलता है।
4. जीरा
जीरे को भूनकर मिश्री के साथ मिलाकर चूसने से फायदा मिलता है या आधा चम्‍मच जीरा पाऊडर एक गिलास पानी के साथ मिक्स करके पीएं।
5. अंजीर
सूखे अंजीर को लेकर रात भर के लिए गर्म पानी में भिगो दें और सुबह खाली पेट लें।  इसको खाने से फायदा होता है।
6. तिल
बवासीर को रोकने के लिए 10-12 ग्राम धुले हुए काले तिल को एक ग्राम मक्खन के साथ मिलाकर लेने से जल्द अाराम मिलता है।

Continue Reading

Body Care

चिकनगुनिया को रखें खुद से दूर, जानिए कैसे ?

Published

on

By

मौसम बदलने के साथ साथ बहुत सारे वायरल रोग भी फैलते हैं। इन दिनों वायरल फीवर, खांसी-जुकाम की परेशानी आम सुनने को मिल रही हैं।  सबसे पहले तो बाहर के खाने से परहेज करें और साफ सुथरा स्वस्थ भोजन खाएं। इन दिनों चिकनगुनिया भी काफी तेजी से फैल रहा है। यह रोग ऐसे हैं जो संक्रमण और साफ सफाई ना होने की वजह से फैलते हैं। दिल्ली में तो चिकनगुनिया ने हड़कंप मचा रखा है।

चिकनगुनिया मच्छर के काटने से ही होता है जिससे रोगी बुखार खांसी, जुकाम से ग्रस्ति हो जाता है। इस रोग की गंभीर बात यह है कि इस रोग से बचने के लिए कोई टीका नहीं है। आमतौर पर चिकनगुनिया का मच्छर दिन में काटता है इसलिए दिन में भी मच्छर कॉयल जलाकर रखें।

चिकनगुनिया को रखें खुद से दूर, जानिए कैसे ?

चिकनगुनिया को रखें खुद से दूर, जानिए कैसे ?

लक्षण
– जोड़ों में दर्द
-100 डिग्री के आस-पास बुखार।
– शरीर पर लाल रंग के रैशेज बन जाते हैं।
– भूख नहीं लगती और थकान
– सिर में दर्द और खांसी-जुकाम

बचाव
– आस-पास साफ-सफाई का ध्यान रखें।
– मच्छरदानी का प्रयोग करें।
– खुद ही डॉक्टर बन दवाई ना खाएं। चेकअप जरूर करवाएं।
– खूब पानी पीजिए।
– बाहर का खाना ना खाएं
– खिड़की-दरवाजों को बंद रखें ताकि मच्छर घर में प्रवेश ना कर पाएं।
– पूरे ढके कपड़े पहनें।


Continue Reading

Body Care

पथरी के दर्द से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय!

Published

on

By

पथरी यानि स्टोन की समस्या आजकल आम देखने को मिल रही है। इसका दर्द इतना भयानक होता है कि सहा न जा सकें। पथरी यूरिन सिस्टम की बीमारी है जो शरीर में कैल्शियम के गाढ़े होने से बढ़ने लगती है। हर उम्र के लोग इस समस्या का सामना कर रहे है। अगर आप भी इस समस्या से परेशान है तो हम आपको कुछ घरेलू नुस्खे बताने जा रहे है, जिसे अपनाकर आप पथरी के दर्द से निजात पा सकते है।

Blausen_0595_KidneyStones

Read More: किडनी की बीमारी के 10 संकेत, इन्हें न करें इग्नोर

1. केला

पथरी के दर्द से राहत पाने के लिए केले का सेवन रोज करें। केले में पाए जाने वाले विटामिन्स पथरी को बढ़ने से रोकते है।

 2. अजवाइन

पानी में अजवाइन डालकर उबाल लें और फिर इसे छानकर पीएं। इसे पीने से पथरी के दर्द से छुटकारा मिलेगा।

3. नींबू पानी

नींबू में सीट्रिक एसिड की मात्रा पाई जाती है जोकि शरीर में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ने से रोकता है। पथरी के समय इसका सेवन करने से जल्दी राहत मिलती है।

4. मिश्री, सौंफ और सूखा धनिया

रात को 2 गिलास पानी में 2 बड़े चम्मच सौंफ, सूखा धनिया और मिश्री को डालकर भिगों दें। सुबह इसे छानकर खाली पेट पीए। एेसा करने से आपको जल्दी ही पथरी से राहत मिलेगी।

5. प्याज

प्याज के रस को शक्कर के साथ पीएं। प्याज में पाए जाने वाले पोटैशियम और विटामिन-B शरीर में पथरी को बढ़ने से रोकता है।

6. एलोवेरा

एलोवेरा का जूस नियमित रूप से पीने से पथरी के दर्द से राहत मिलती है।

यह भी पढ़ें: आपको किडनी की बीमारियों से दूर करेगा ये योग..


Continue Reading

Trending